Ethernet क्या है और ईथरनेट के प्रकार

दोस्तों क्या आपको पता है Ethernet Kya Hai और इसके प्रकार। तो दोस्तों आज हम इसीके बारे में चर्चा करेंगे। आज internet के ज़माने में हम ज़्यादातर महत्वपूर्ण कार्य को इंटरनेट परिसेवा के सहायता से ही सफलतापूर्वक संपन्न कर पाते है। Internet एक नेटवर्क है यह तो आप सभी अच्छे से जानते है, और, उसी संबंध में LAN के बारे में भी आप ज़रूर जानते होंगे। यह नेटवर्क लोकल एरिया यानि बहुत कम डिस्टेंस जैसे बिल्डिंग, घर, स्कूल, कॉलेज और छोटे इलाकों के कंप्यूटर और अन्य डिवाइस के साथ जुड़ा रहेता है।

ईथरनेट क्या है – What is Ethernet

इथरनेट एक लोकल एरिया नेटवर्क टेक्नोलॉजी है इस तकनीक की मदद से आप बहुत से कंप्यूटर्स को networking device को आपस में connect कर सकते है इसके बाद आप बहुत से कंप्यूटर में एक दूसरे को इंफॉर्मेशन और फाइल, प्रोग्राम शेयर कर सकते है जैसे office, College, School आदि स्थानों पर नेटवर्क बनाने के लिए ईथरनेट तकनीकी का इस्तेमाल किया जाता है ये TCP/IP Stack के data link layer का Protocol है। इस Ethernet Technology की मदद से ही LAN में अलग अलग Computer आपस में बिना किसी problem के Information share कर सकते हैं।

इसमें बहुत से कंप्यूटर्स को इनफार्मेशन शेयर करने के लिए केबिल के जरिए कनेक्ट किया जाता है आसान उदहारण के मदद से समझाते है जैसे आपका Computer LAB जहाँ पे Ethernet cable मतलब twisted pair cable की मदद से ही सारे Computer आपस में connected होकर आपके computer तक पहुँचती है, उस Technology का नाम है ईथरनेट . जिसको Ethernet protocol भी बोला जाता है पहले इसमें Coaxial कैबिल का इस्तेमाल किया जाता था लेकिन अब फाइबर केबल का उपयोग किया जाने लगा है

ईथरनेट का इतिहास

ये नेटवर्क अब तक के सबसे ज़्यादा सुरक्षित, तेज़, और भरोसेमंद नेटवर्क हे। शुरुवाती दौर में इथरनेट का गति 10 Mbps था। फिर, इस टेक्नोलॉजी में काफी सारा बदलाव किया गया जिस कारण इथरनेट की गति 100 MBPS हो गया। ऐसे ही बदलते समय के साथ साथ धीरे धीरे इस टेक्नोलॉजी में बहुत सारा सुधार लाया गया और वर्तमान में इसका speed 10 Gigabit तक है Ethernet का इस्तेमाल school, college, और office में किया जाता है। इस cable की लम्बाई 100 मीटर होती है

ईथरनेट के फायदे

  • इसकी speed बहुत ही fast होती है 10 GBps.
  • इसे स्विच या हब की आवश्यकता नहीं होती है.
  • यह बहुत भरोसेमंद तकनीकी है.
  • ईथरनेट को Maintain करना बहुत ही आसान होता है
  • छोटे नेटवर्क जैसे LAN को बनाने के लिए ईथरनेट एक बेहतरीन तकनीकी है.
  • ईथरनेट की कीमत भी सस्ती होती है.
  • ये high level security द्वारा सुरक्षित रहेता है। और, इसीलिए hackers आसानी से आपकी डाटा को हैक नहीं कर सकता है।

ईथरनेट के नुक्सान

  • बड़े नेटवर्क बनाने के लिए ईथरनेट का इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है.
  • इसका इस्तेमाल केवल छोटी दूरी के लिए ही किया जा सकता है.
  • इसकी Mobility सीमित होती है.
  • यह एक Nondeterministic सर्विस प्रदान करता है.ये network पर Connection-Less संचार प्रदान करता है.
  • इसमें packets की priority को set नहीं किया जा सकता.

Internet और Ethernet में क्या अंतर है

Internet

  • Internet है Inter connected network यानि इसके जरिए सभी कंप्यूटर आपस में एक नेटवर्क के अन्तर्गत जुड़ा रहेता है
  • इंटरनेट पूरी दुनिया के इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों को कनेक्ट करता है जिसमें TCP/IP प्रोटोकॉल का इस्तेमाल किया जाता है।
  • इंटरनेट के सहारे किसी की भी जानकारी चुराई जा सकती है।
  • Internet का उदाहरण है WAN

Ethernet

  • ईथरनेट नेटवर्किंग टेक्नोलॉजी कहलाती है जिसका इस्तेमाल लोकल एरिया नेटवर्क में किया जाता है इसका इस्तेमाल एक सीमित क्षेत्र में बहुत सारे कंप्यूटर को एक दूसरे से जोड़ने का कार्य करने के लिए होता है।
  • Ethernet है एक सिस्टम जिसके जरिए सभी कंप्यूटर आपस में फिजिकली एक ही नेटवर्क के अधीन जुड़ा रहेता है।
  • Ethernet की सिक्योरिटी मैं कोई बाहरी व्यक्ति प्रवेश नहीं कर सकता
  • Ethernet का उदाहरण है LAN
  • Ethernet cable क्या है …
ईथरनेट केबल मुख्य रूप से 3 प्रकार की होती है

Coaxial Cable

इस तरह की केबल में केवल एक wire होता है जो insulator, metal की shield और plastic के खोल से घिरा रहता है। Insulator सिग्नल को control करता है। Metal की shield wire को electromagnetic interference से बचाती है ताकि signal बीच में ही destroy ना हो। और plastic का खोल wire को बाहरी अवरोधों से बचाता है जैसे की पानी और आग। Coaxial cabling ज्यादातर televisions के लिए यूज़ की जाती है।

Coaxial cable दो प्रकार की होती है..

(1)Thin net

इस तरह के coaxial cable बहुत विश्वशनीय होता है। Thinnet coaxial cable आकार में छोटा होता है। इस cable को कनेक्ट करने के लिए BNC connector का इस्तेमाल किया जाता है।

(2)Thick net

इस तरह के coaxial cable केबल thin net के तुलना में कम विश्वशनीय होता है। Thick net में shielding यानी परत ज़्यादा होने के कारण यह केबल आकार में थोड़ा मोटा भी होता है। थिक नेट को लंबी दूरी के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इसे कनेक्ट करने के लिए vampire tap का प्रयोग किया जाता है।

Twisted pair cable

Twisted Pair Cable में दो या चार कॉपर वायर के जोड़े प्लास्टिक की खोल से कवर रहते हैं जिससे कि एक वायर का सिग्नल दुसरे वायर के सिग्नल को ख़राब न कर सके. इस प्रकार की केबल को ईथरनेट टेक्नोलॉजी में सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है.

Twisted pair cable दो प्रकार की होती है..

(1)Shielded Twisted Pair

इस तरह के केबल में विद्युत चुम्बकीय प्रभाव को रोकने के लिए ये केबल एक विशेष लेयर द्वारा घिरा हुआ रहेता है, जिसे shield बोलते है। यह लेयर केबल का quality बरकरार रखता है और साथ ही बाहर के सिग्नल को केबल के अंदर आने से रोकता है।

(2)Un-shielded Twisted Pair..

इस तरह के केबल में किसी भी तरह का लेयर नहीं रहेता है, जिस कारण यह केबल बहुत सस्ता होता है। और, इसका structure भी बहुत पतला होता है। इस तरह के केबल मुख्य रूप से LAN और टेलीफोन लाइन में ही इस्तेमाल किया जाता है।

Fiber optic cable

Coaxial और Twisted Pair Cable में डेटा Electromagnetic Interference की मदद से जाता है लेकिन Fiber Optic Cable डेटा को ले जाने के लिए लाइट का इस्तेमाल करती है. Fiber Optic Cable पतले धागे के समान केबल होती है जो कि प्लास्टिक या ग्लास की बनी रहती है. इस केबल की Bandwidth अन्य केबल की तुलना में अधिक होती है और सिग्नल ख़राब होने की संभावना भी बहुत कम होती है.

Fiber optic cables दो प्रकार की होती है..

(1)Single mode fiber

Single mode fiber ऑप्टिक केबल में एक बार में केवल एक ही data ray travel करती है।

(2)Multi mode fiber

Multi mode fibe ऑप्टिक केबल में एक बार में बहुत सारीं data rays travel कर सकती है।

Ethernet में इस्तेमाल होने वाले Component

  • Ethernet Cable
  • Ethernet Hub
  • Router
  • Crossover Cable

Ethernet कितने प्रकार के होते है

  • Fast Ethernet
  • Gigabit Ethernet
  • 10 Gigabit Ethernet

Read more:

Leave a Comment